लखनऊ: ऐपल कम्पनी के प्रोडेक्ट की लांचिंग के चलते विवेक देर से घर आने की बात कह कर निकले थे। शाम के वक्त पत्नी कल्पना को फोन किया तो बेटी सीवी से बात हुई। उसे पढ़ाई करने और जल्दी सोने की नसीहत दे विवेक ने फोन रख दिया। शनिवार की सुबह जब सीवी को पापा की हत्या किए जाने की खबर मिली तो मासूम मां के सीने से लिपट गई। विवेक का शव देख सीवी बोली पापा मै अच्छे नम्बर लाऊंगी, प्लीज उठ जाओ। फूल सी बच्ची को पिता के शव पर बिलखते देख वहां मौजूद हर शख्स की आंख भर आई।

आपको बता दें कि शुक्रवार देर रात लखनऊ के गोमती नगर में मकदूमपुर पुलिस चौकी के पास दो सिपाहियों ने एसयूवी में सवार ‘ऐपल’ के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी को गोली मार दी थी। गोली लगते ही विवेक की मौके पर ही मौत हो गई थी। यह देखते ही दोनों आरोपी सिपाही मौके से भाग निकले। दूसरे पुलिसकर्मियों ने विवेक को अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इस हादसे के बाद एडीजी आनन्द कुमार ने बताया कि यह हत्या का मामला है। गोली चलाने वाले सिपाही प्रशांत चौधरी और उसके साथी सिपाही संदीप कुमार को बर्खास्त कर दिया गया है। दोनों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर किया है। मामले की जांचके लिए एसआईटी का गठन का कर दिया गया है। इस बीच, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में कहा कि यह एनकाउंटर नहीं है। प्रथम दृष्टया दोषी गिरफ्तार हो गए हैं। जरूरत पड़ी तो सीबीआई जांच भी कराएंगे।

विवेक तिवारी का रविवार सुबह 8:30 पर अंतिम संस्कार
बेलगाम पुलिस की गोली से मारे गए विवेक तिवारी का रविवार सुबह 8:30 पर अंतिम संस्कार कर दिया गया। विवेक को मुखाग्नि उनके भाई राजेश तिवारी ने दी। बैकुंठ धाम पर कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन और बृजेश पाठक भी पहुंचे। दोनों ने कहा कि आरोपियों को सख्त सजा मिलेगी। पीड़ित परिवार के साथ पूरी संवेदना है। सुबह करीब 8 बजे विवेक की अंतिम यात्रा न्यू हैदराबाद स्थित आकाश गंगा टावर से गमगीन माहौल में निकली। पत्नी कल्पना तिवारी और बेटी को बिलखता देख हर किसी की आंख नम हो गई। आवास से लेकर बैकुंठ धाम तक भारी पुलिस बल था।

Hindustan
Hindustan

बैकुण्ठ धाम पर लोगों में पुलिस के खिलाफ काफी गुस्सा दिखा। इन लोगों का कहना था कि ऐसी गुंडई तो कभी नहीं दिखी। इतना बेलगाम पुलिस कैसे हो सकती है। कुछ लोगो ने वहां मौजूद पुलिस के सामने ही कहा कि विवेचना पुलिस को ही करनी है ऐसे मैं इस बात की क्या गारंटी की आरोपी के खिलाफ मजबूत साक्ष्य पेश किए जाएंगे।

एप्पल के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक को शुक्रवार की रात उस समय दो सिपाहियों ने गोली मार दी थी जब वो अपनी महिला सहयोगी के साथ घर लौट रहे थे। उनका कुसूर सिर्फ इतना था कि पुलिस के इशारे पर उन्होंने अपनी गाड़ी नहीं रोकी थी।