रुड़की: त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति को ढहाने के बाद जैसे पूरे देश में मूर्तियों को गिराने और नुकसान पहुंचाने का सिलसिला चल पड़ा है. जिसकी आग अब उत्तराखंड में भी फैलने लगी है.

मामला खानपुर के कान्हेवाली गांव का है. जहां डॉ. भीमराव अंबेडकर की मूर्ति को कुछ असमाजिक लोगों द्वारा खंडित कर दिया गया. जिसके बाद दलित समुदाय आक्रोशित होकर सड़कों पर उतर आया है. घटना की गंभीरता को देखते हुए मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है.

मूर्ति के हाथ और चश्में को क्षतिग्रस्त-

आज शहर में खानपुर थाना क्षेत्र के कान्हेवाली गांव में डॉ. भीमराव अंबेडकर की मूर्ती को खंडित कर दिया गया. मूर्ति के हाथ और चश्में को क्षतिग्रस्त किया गया है. जिसके बाद गांव में दो समुदायों के बीच तनातनी का माहौल बना हुआ है. मूर्ति के खंडित होने से आहत हुए दलित समुदाय ने सड़क पर निकलकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया.

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक मणिकांत मिश्रा भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच चुके हैं.
किसी तरह का कोई बवाल ना हो इसके लिए पूरे गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीएम और तहसीलदार भी एक्शन मोड में आ गये है. जिसके बाद शहर के भीतर बाहरी लोगों के आने पर रोक लगा दी गई है.

Leave a Reply