कांग्रेस पार्टी आपके डेटा को किसी भी अनजान शख्स को दे सकती है!

185

नई दिल्ली: डाटा लीक के मामले में अब आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति चरम पहुंच गई है. रविवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘नमो ऐप’ का डाटा विदेशी कंपनियों को देने का आरोप लगाया था तो सोमवार सुबह बीजेपी की ओर से ऐसा ही आरोप राहुल गांधी पर लगा दिया गया है. फेसबुक डेटा लीक पर विवाद के बीच बीजेपी और कांग्रेस में ट्विटर वार छिड़ गया है. दोनों ही प्रमुख पार्टियों ने एक दूसरे पर जनता की जानकारियों को बिना उन्हें बताए शेयर करने के आरोप लगाए हैं.

रविवार को राहुल ने ट्वीट पर लिखा, Hi! मेरा नाम नरेंद्र मोदी है. मैं भारत का प्रधानमंत्री हूं. जब आप मेरे आधिकारिक ऐप के लिए साइन करेंगे तो मैं आपका सारा डेटा अपने अमेरिकी कंपनियों के दोस्तों को दे दूंगा. धन्यवाद मुख्यधारा की मीडिया, आप लोग हमेशा की तरह इस अहम ख़बर को दबाने का बढ़िया काम कर रहे हैं.

राहुल के इस आरोप के जवाब में आज बीजेपी के आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने भी एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा, ‘Hi! मेरा नाम राहुल गांधी है. मैं देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी का अध्यक्ष हूं. जब आप हमारे आधिकारिक ऐप को साइन अप करेंगे तो हम आप से जुड़ा पूरा डाटा सिंगापुर के दोस्तों को दे देंगे’. इस ट्वीट के साथ ही उन्होंने एक ग्राफिक भी शेयर किया है.

इतना ही नहीं, बीजेपी ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस पार्टी एक कदम आगे बढ़कर आपके डेटा को किसी भी अनजान शख्स को दे सकती है, इनमें अज्ञात वेंडर्स, अज्ञात वॉलनटिअर्स और ऐसे ही किसी समूह को यह जानकारी दी रही है. अमित मालवीय ने अपनी बातों को पुख्ता करने के लिए कुछ तस्वीरें भी शेयर की हैं.

बीजेपी ने भी अमित मालवीय द्वारा किए गए इन सिलसिलेवार ट्वीट्स को रीट्वीट किया है. कांग्रेस पार्टी की वेबसाइट पर दी गई कथित प्रिवेसी पॉलिसी को रेखांकित करते हुए मालवीय ने लिखा, ‘जब कांग्रेस कहती है कि वे आपके डेटा को लाइक-माइंडेड ग्रुप्स को शेयर करेंगे तो चिंता बढ़ जाती है. माओवादियों, पत्थरबाजों, भारत के टुकड़े गैंग, चीनी दूतावास से लेकर दुनियाभर में ‘विख्यात’ कैम्ब्रिज ऐनालिटिका (CA) जैसों तक भी आपकी जानकारी पहुंच सकती है. यह क्षेत्र काफी व्यापक और पूरी तरह से खुला है.’

आईटी हेड ने आगे कहा,’सोनिया गांधी के- सभी पावर कोई जवाबदेही नहीं- सिद्धांत पर काम करते हुए कांग्रेस आपके सभी डेटा लेगी और दुनियाभर में इसे कैम्ब्रिज ऐनालिटिका जैसे संगठनों से शेयर करेगी लेकिन इसकी जिम्मेदारी भी नहीं लेगी. उनकी अपनी नीति ही ऐसा कहती है.’

गौरतलब है कि इससे पहले कांग्रेस ने नमो ऐप की मदद से भारतीयों के निजी डेटा को लीक करने का आरोप लगाया था. सोशल मीडिया पर #DeleteNaMoApp कैंपेन भी चलाया गया. रविवार को राहुल गांधी ने तंज कसते हुए कहा था कि मैं नरेंद्र मोदी, आपके सारे डेटा अमेरिकी कंपनियों के अपने दोस्तों को देता हूं.

Leave a Reply