कुशीनगर: जिले के खिरकिया गांव की मुसहर बस्ती के दो भाइयों की कुपोषण से मौत हो गई. मुआवजे की मांग को लेकर पूर्वाचल किसान यूनियन से जुड़े लोगों ने प्रदर्शन किया. उन्होंने स्वास्थ्य विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कर्मियों पर मुकदमा दर्ज कराने की मांग भी की. एसडीएम ने मांग पूरी कराने का आश्वासन देकर धरना खत्म कराया.

जनपद के पडरौना थाना क्षेत्र अंतर्गत खिरकिया गांव की मुसहर बस्ती के निवासी सुदर्शन मुसहर का 22 वर्षीय पुत्र फेकू कुपोषण के कारण काफी समय से बीमार था. गुरुवार को उसकी हालत खराब हो गई. घरवाले और पड़ोस के लोगों ने फेकू को शुक्रवार को जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां देर शाम उसकी मौत हो गई. तबीयत खराब होने पर छोटे भाई 16 वर्षीय पप्पू को भी जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया. देर रात उसने भी दम तोड़ दिया.

दोनों भाइयों की मौत की सूचना पर पूर्वांचल किसान यूनियन के अध्यक्ष पप्पू पांडेय समर्थकों के साथ शनिवार को गांव में पहुंचे और युवक की मौत कुपोषण एवं बीमारी से बताते हुए शव रखवाकर वहीं धरना देने लगे. प्रदर्शन कर रहे लोगों ने स्वास्थ्य विभाग को लापरवाह बताते हुए जिम्मेदार व्यक्तियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग की. इसके साथ ही प्रदर्शनकारी मृतक के घरवालों को 5 लाख रुपये की सहायता देने तथा गांव में स्वास्थ्य शिविर लगाकर मुसहर बस्ती के लोगों के स्वास्थ्य की जांच करने की मांग कर रहे थे.

पप्पू पांडेय ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम कभी गांव में नहीं जाती. फेकू की मौत स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से हुई है. धरने की सूचना पर एसडीएम गुलाब चंद, तहसीलदार सदर संजय कुमार राय और कोतवाल पडरौना विजय राज सिंह पहुंचे. एसडीएम ने मांग पूरी कराने का आश्वासन देकर धरना खत्म कराया.

इसके बाद सीएमओ के निर्देश पर कुबेरस्थान सीएचसी की टीम पहुंची और लोगों के स्वास्थ्य की जांच शुरू कर दी. सीएमओ डॉ. हरिचरन सिंह ने भी मुसहर बस्ती में पहुंचकर निरीक्षण किया. एसडीएम पडरौना गुलाब चंद ने बताया कि युवक की मौत बीमारी से हुई है. जांच की जा रही है, हर संभव मदद की जाएगी.

Leave a Reply