मौत के मुआवजे को शादी के लिए नहीं कर सकेंगे खर्च : राजस्थान हाई कोर्ट

60

नई दिल्ली: राजस्थान हाई कोर्ट ने हादसे में मौत बाद मिलने वाले मुआवजे को लेकर एक अहम फैसला सुनाया है. कोर्ट ने कहा है कि हादसे में मौत के बाद मिले मुआवजे की राशि को शादी के लिए खर्च नहीं किया जा सकता है.

दरअसल, याचिकाकर्ता फूली देवी के पति रमेश की हादसे में मौत हो गई थी. उन्हें मुआवजे की राशि मिली थी. बेटी की शादी के लिए मुआवजे के तौर पर जमा एफडी को समय से पहले निकालने की अनुमति मांगी थी. सुनवाई के दौरान सामने आया कि याचिकाकर्ता 4.75 लाख पहले ही निकलवा चुकी है. इसके अलावा अब वह 2.75 लाख रुपए और निकालना चाहती है.

कोर्ट ने मुआवजे की राशि को शादी में खर्च करने की मंजूरी देने से मना करते हुए याचिका खारिज कर दिया. आपको बता दें कि जस्टिस एसपी शर्मा ने सोशल जस्टिस डिपार्टमेंट से विधवा की बेटी की शादी के लिए सुविधा उपलब्ध कराने को कहा है. इसी के बाद ये फैसली सुनाया गया है.

याचिका खारिज कोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए कहा कि परिवार के लिए विशेष सुरक्षा उपायों के तहत यह मुआवजा राशि दी जाती है. इसको शादी समारोह में खर्च नहीं किया जा सकता. इसके साथ ही कोर्ट ने सामाजिक न्याजय विभाग को विधवा की बेटी की शादी का इंतजाम सुनिश्चित करने को कहा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here